आखिर क्यों इस मंदिर में होती है कुत्ते की पूजा ?

Tuesday, September 5, 2017 1:30 PM
आखिर क्यों इस मंदिर में होती है कुत्ते की पूजा ?

मंदिरों में भगवान की पूजा के बारे में तो हमने बहुत सुना होगा लेकिन भारत में एक ऐसा मंदिर भी है जहां कुत्ते की पूजा की जाती है। कई लोगों को यह जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सच है। यह मंदिर छत्तीसगढ़ में है और यहां लोग कुत्ते को भगवान मानकर उसकी पूजा-अर्चना करते हैं। आइए जानिए आखिर क्यों यहां कुत्ते की पूजा की जाती है।

- काफी साल पहले इस गांव में एक बंजारा रहता था और उसके पास एक कुत्ता था जिसे वह बहुत प्यार करता था।
- एक बार इस गांव में अकाल पड़ गया और बंजारे के पास पैसों की तंगी के कारण खान-पान की कमी हो गई। 
PunjabKesari
- वहीं दूसरी ओर इस गांव के साहूकार के घर चोरी हो गई और चोरों ने लूटा हुआ सामान जिस जगह पर रखा था। वहां से बंजारे के कुत्ते ने उस सामान को ढूंढ निकाला।
- इस बात से खुश होकर साहूकार ने उस कुत्ते को अपने पास रखना चाहा और एक चिट्ठी लिखकर कुत्ते के गले में बांध दी जिसमें लिखा था कि वह बंजारे के पास नहीं बल्कि अब से साहूकार के पास रहेगा।
PunjabKesari
-
जब बंजारे ने कुत्ते को घर आते देखा तो उसने गुस्से में कुत्ते को पीट-पीट कर मार डाला लेकिन जब उसने कुत्ते के गले में वह खत देखा तो उसे बहुत पछतावा हुआ। अपने इसी पछतावे को दूर करने के लिए बंजारे ने वहीं कुत्ते की समाधि बना दी और आज इसी जगह पर कुकुरमंदिर नाम का मंदिर है। जहां लोग आकर कुत्ते की पूजा करते हैं।
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !