जब बच्चा चुराने लगे चीजें तो ऐसे करें सुधार

Monday, June 12, 2017 12:13 PM
जब बच्चा चुराने लगे चीजें तो ऐसे करें सुधार

पंजाब केसरी(पेरेंटिग)- बच्चे अक्सर दुसरे बच्चों की चीजें देखकर खुश हो जाते हैं और वैसी ही चीज लेने की जिद्द भी करते हैं। कुछ बच्चे तो अपने दोस्तों की चीजें बिना बताए घर ले आते हैं और मम्मी के डर से छुपा-छुपा कर रखते हैं। छोटे बच्चों की इन बातों को नादानी समझा जाता है लेकिन अगर बच्चे बार-बार इस तरह की बातें दोहराएं तो आगे चलकर परेशानी हो सकती है। 
 

1. बच्चे को समझाएं
छोटे बच्चे में आत्म विश्वास की कमी होती है। उनका अपनी भावनाओं पर कोई नियंत्रण नहीं होता। बच्चे को ढेर सारे खिलौने लेकर देने की बजाएं उनको उनकी पसंद की 1 या 2 चीजें दिला दें। इससे बच्चा दूसरों की चीजों की ओर ध्यान नहीं देगा। 
 

2. विश्वास के मायने समझाएं
बच्चों को इस बात के बारे में जरूर समझाएं की जब वो किसी की चीज चुराते हैं तो उसका विश्वास खो देते हैं। उनको यह बात डांटने की बजाए प्यार और खेल-खेल में समझानी चाहिए। 


3. चोरी की जरूरत को समझे
बच्चे के चोरी करने की बजह का पता लगाएं। इस बात की जांच अच्छे से करें कि क्या कारण है कि बच्चा चोरी कर रहा है। इसे डांटने की बजाए पहले खुद समझाएं और हो सके तो उसकी जरूरतों को खुद पुरा करने को कोशिश करें। उसकी बातों को छुपाने की बजाए अपने पार्टनर से भी शेयर करें। 
 

4. अच्छे कामों की प्रशंसा करें
बच्चों को बात-बाक पर टोकने की बजाए उनके अच्छे कामों की प्रशंसा करें। उसे समझाएं कि अगर दूसरों के लिए अगर उसका व्यवहार अच्छा रहेगा तो लोग उसे पसंद करेंगे। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !