बच्चों को करीब से जानने के लिए ऐसा हो आपका Behavior

Monday, March 12, 2018 11:34 AM
बच्चों को करीब से जानने के लिए ऐसा हो आपका Behavior

आजकल के जमाने में बच्चे मां-बाप से बहुत दूर होते जा रहे हैं, कहीं न कहीं इसका कारण टैक्नॉलजी का बढ़ना और पेरेंट्स का अपने-अपने कामों में व्यस्त होना। इसका नतीजा दोनों में इतनी दूरी बढ़ जाती है कि बच्चे न तो मां-बाप को अच्छी तरह से समझ पाते हैं और न ही वे बच्चों को। इसी वजह से बच्चों का स्वभाव भी चिड़चिड़ा बन जाता है। कई बार पेरेंट्स का रूखा व्यवहार भी दोनों के रिश्तों में दूरिया पैदा कर देता है। छोटी-छोटी बात पर बच्चे से डांट फटकार उसके दिमाग पर बुरा असर डालती है, वह चाह कर भी अपने मन की बात मां-बाप से नहीं कर पाता। कुछ बातों का खास ख्याल रख कर आप अपने लाडले या फिर लाडली के करीब जा सकते हैं। 


पहली जानें बच्चे की पसंद
कुछ पेरेंट्स अपने काम में इतने बिजी होते हैं कि बच्चे के साथ तालमेंल ही नहीं बिठा पाते। उनका पसंदीदा खाना,खेल, हाव-भाव कैसा है यह भी उनको नहीं पता होता। बच्चे के दिल में अपनी जगह बनाने के लिए पहले उसकी पसंद को जरूर जान लें। इससे वह जल्दी आपसे घुलना-मिलना शुरू कर देंगे। 


बातों को ध्यान सुनें
कुछ मां-बाप बच्चे की बातों के बेकार समझ कर नजरअंदाज कर देते हैं। कई बात को कुछ सुने बिना ही वह सिर हिला कर जवाब दे देते हैं। ऐसा कभी न करें, आपनी नजरअंदाजी बच्चे के दिल में घर कर सकती है। बच्चों का हर बात को ध्यान से सुने हो सके तो कभी-कभी उनके साथ बैठ कर 1-2 घंटे खुल कर बात करें। बच्चा चाहे छोटा हो या बड़ा घर के कामों में उनकी राय जरूर लें। 
 

कहानियों से मिटाएं दूरियां
बच्चों का कहानियां सुनने का बहुत शौंक होता है। यही सबसे अच्छा तरीका है उनके करीब जाने का। रात को सोने से पहले उन्हें प्रेरणादायक कहानियां सुनाएं। ऐसे में वह भी महसूस करेंगे की उनका साथ आपको कितना पसंद है। धीरे-धीरे वह आपसे अपने मन की बातें भी शेयर करनी शुरू कर देंगे। 


 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन