तकिए की सफाई पर नहीं देंगे ध्यान तो हो सकती है यह बीमारियां

Saturday, February 10, 2018 3:09 PM
तकिए की सफाई पर नहीं देंगे ध्यान तो हो सकती है यह बीमारियां

कई लोगों को तकिए के बिना नींद नहीं आती। वैसे तो यह आदत बुरी नहीं लेकिन तकिए की साफ-सफाई रखना बहुत जरूरी है। गंदा तकिया कई बीमारियों की वजह बनता है। एेसे में सोते समय हमेशा सॉफ्ट और साफ-सुथरे तकिए का इस्तेमाल करें। सप्ताह में कम से कम एक बार इसके कवर को जरूर बदलें। दरअसल, शरीर के बैक्टीरिया तकिए पर लग जाते हैं, जो श्वास प्रक्रिया द्वारा शरीर के अंदर चले जाते हैं। आज हम आपको इससे होने वाली मुश्किलों और इससे बचने के लिए रख-रखाव के बारे में जानकारी देंगे। जिससे आप हमेशा के लिए सेहतमंद रहेंगे।

1. गंदे और असुविधाजनक तकिए से होने वाली बीमारियां

PunjabKesari
- पुराने तकिए के अंदर काफी ज्यादा धूल मिट्टी के कण चिपके होते हैं, जो कि सांस लेने से फेफड़ो में चले जाते हैं, जिससे अस्थमा जैसी बीमारी होने के संभावना बढ़ जाती है।

- पिलो ज्यादा मोटा और पतला होने पर गर्दन नीचे की तरफ झुक जाती है। जिससे खर्राटे की बीमारी हो सकती है। एेसे में हमेशा साधारण साइज के तकिए इस्तेमाल करें।

- गंदे पिलो कवर पर मौजूद बैक्टीरिया पिंपल्स का कारण बनते हैं। एेसे में समय पर इनके कवर को चेंज करें। 

- ऊंचे तकिए के इस्तेमाल से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ जाता है जिसके कारण पेट से जुड़ी समस्याएं बढ़ने लगती है। 

- ज्यादा पुराने तकिए के इस्तेमाल से गर्दन में दर्द की प्रॉब्लम हो सकती है।

2. इस तरह के तकिए का करें प्रयोग

PunjabKesari

- पॉलिएस्टर के बने तकिए काफी सस्ते होते हैं। इसे आप धोकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे कम से कम दो साल में बदल लेना चाहिए।

-   लैटैक्स तकिए सोते समय बहुत ही आरामदायक होते हैं। आप इसे काफी लंबे समय तक प्रयोग कर सकते हैं।

-  मेमोरी फोम के बने पिलो गर्भवती महिलाओं को लिए काफी फायदेमंद होते हैं क्योंकि यह सोते समय सिर और गर्दन के अनुसार आकार बना लेते हैं।


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन