बच्चों में हकलाहट की समस्या को दूर करें ये घरेलू नुस्खे

Friday, June 9, 2017 10:13 AM
बच्चों में हकलाहट की समस्या को दूर करें ये घरेलू नुस्खे

पंजाब केसरी (पेरेंटिंग) : हकलाने और अटक कर बोलने की बीमारी ज्यादातर छोटे बच्चों में देखी जाती है लेकिन कई बड़े लोग भी इस समस्या से ग्रसित होते हैं। कई बार तो यह समस्या इतनी बढ़ जाती है कि बच्चे को अपनी बात पूरी करने में काफी समय लग जाता है। इस वजह से बच्चे अपने आप को दूसरों के सामने हीन समझने लगते हैं। इस समस्या को ठीक करने के लिए लोग कई तरह की थैरेपी करवाते हैं लेकिन इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। ऐसे में कुछ आसान घरेलू उपचार करके हकलाने की समस्या को कम किया जा  सकता है। 


1. हकलाने की समस्या को दूर करने के लिए गाय का घी काफी फायदेमंद होता है। बच्चे को इस घी से बना भोजन खाने को दें।

2. 1 चम्मच सारस्वत चूर्ण और आधा चम्मच ब्राह्मी किरुथम शहद में मिलाएं और इस मिश्रण को चावल के गोलों में मिलाकर खिलाने से फायदा होता है।

3. ब्राह्मी तेल को गुनगुना करके सिर पर आधा घंटा मालिश करें और उसके बाद गुनगुने पानी से नहा लें। इससे बच्चे में हकलाने और अटककर बोलने का दोष दूर होगा।

4. कोथमीर के कुछ बीजों को पाम कैंडी वल्लाराई के पत्तों में रखकर चबाने से हकलाहट की समस्या दूर होती है। इसके अलावा वल्लाराई के पत्तों को धूप में सूखाकर इनका पाउडर बना लें और नियमित रूप से इस पाउडर का सेवन करने से फायदा होता है।

5. आंवले का मुरब्बा खाने से भी हकलाने की समस्या से राहत मिलती है। इसके अलावा रोज सुबह 1 चम्मच सूखे आंवले का पाउडर और 1 चम्मच देसी घी का सेवन भी कर सकते हैं।

6. बादाम की 12 गिरियों को रात भर पानी में भिगो कर रखें और सुबह इनका छिलका उतार कर पीस लें। इन पीसे हुए बादाम को 30 ग्राम मक्खन के साथ सेवन करने से अटककर बोलने की समस्या ठीक होती है। 

7. 10 साबुत काली मिर्च और 10 बादाम को मिश्री के साथ पीस कर करीब दस दिन तक सेवन करें इससे बहुत जल्दी फर्क देखने को मिलेगा।

8. रात को सोने से पहले 4-5 छुआरों का सेवन करें और उसके बाद 2 घंटों तक पानी नहीं पीना चाहिए जिससे हकलाहट दूर होगी।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !