कूड़ा बीनने वाली बन गई जर्नलिस्ट, कुछ ऐसी है माया की कहानी

Monday, May 14, 2018 11:49 AM
कूड़ा बीनने वाली बन गई जर्नलिस्ट, कुछ ऐसी है माया की कहानी

यह बात सच है कि अगर इंसान के इरादे मजबूत हो तो वह दुनिया को भी बदल सकता है। मेहनत और हिम्मत मिलकर किसी की राह को और भी आसान कर देते हैं, बस खुद में कुछ अलग करने का जज्बा होना जरूरी है। ऐसी ही कहानी है महाराष्ट्र की रहने वाली माया खाडवे की। जिसने घर चलाने के लिए कूड़ा बीनने का काम किया। लोगों का कूड़ा उठाने वाले के प्रति रूखा व्यवहार उसे दुख पहुंचाने लगा। माया ने इससे कुछ अलग करने की सोची, जिससे न सिर्फ उनका स्टेटस बदल गया बल्कि इलाके की हालत में भी बहुत सुधार आया।  


स्वच्छ भारत के अभियान से प्रेरित होकर प्राधनमंत्री की 4जी क्रांति से माया ने अपनी नई राह बनाई। अपने आस-पास के इलाकों में जगह -जगह लगे गंदगी के ढेर को उसने तस्वीरों के जरिए फोन में कैद करना शुरू कर दिया। इस फोटो और वीडियो को उसने लोगों और अधिकारियों को दिखाना शुरू किया। जिसका असर भी हुआ, वहां से गंदगी को जल्दी साफ करवा दिया गया। माया का कहना है इससे उसे नई दिशा मिली और अपने काम को आगे फिर जारी रखा। 


पढ़ी लिखी न होने के बावजूद उससे मोबाइल चलाना और वीडियो को लैपटॉप में खुद ही एडिट भी करना सीखा। इन वीडियो की वजह से उसे साफ-सफाई करवाने में बहुत मदद मिली। इसी प्रयास के कारण वह लोगों में फेमस हो चुकी हैं और इलाके के सभी अधिकारी भी उसे जानते हैंं। जो लोग पहले उसके रिकॉर्डिंग करने को लेकर हंसते थे, अब वह गंदगी की शिकायत लेकर उसके पास आते हैं। इसी प्रयास की वजह से अब माया सिटीजन जर्नलिस्ट बन चुकी हैं। 

 


 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन