सेहत के लिए दूध बेस्ट है या दही?

Monday, March 20, 2017 10:07 AM

सेहत :  शुरू से ही हर घर में हम दूध और दही का खाने में प्रयोग करते हैं। दूध और दही दोनों का सेवन हमारे लिए स्वास्थ्यकारी होता है। लेकिन दूध की तुलना दही हमारे लिए ज्यादा लाभकारी होता है। आइए जानें,कैसे?


दूध व दही में ज्यादा बेहतर
दूध को खट्ठा लगाकर दही जमाया जाता है। लेकिन दही और दूध में, दही दूध से भी ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि दूध से ही दही बनता है। इसमें कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दूध की अपेक्षा जल्दी पच जाते हैं । दूध की अपेक्षा दही में प्रोटीन, लैक्टोज, कैल्शियम कई विटामिन्स होते हैं इसलिए दही को सेहत के लिए दूध से ज्यादा बढ़िया माना जाता है।


दही में विटामिन
विटामिन ए, डी, और बी-12 से युक्त दही में कैल्शियम की मात्रा दूध से कहीं अधिक होती है। इसके चलते हड्डियां और दांत मजबूत होते हैं। यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी से लड़ने में भी मददगार होता है।


सेहत के लिए दूध से अधिक लाभकारी
डॉक्टर मानते है कि दूध जल्दी हजम नहीं होता है कब्ज और गैस पैदा करता है, दही व मट्ठा तुरंत हजम हो जाता है। जिन लोगों को दूध नहीं हजम होता उन्हें दही या मट्ठा लेना चाहिए। किसी भी प्रकार के खाने को दही से हजम किया जा सकता है क्योंकि दही भोजन प्रणाली को दुरूस्त बनाए रखता है।


कितना लेना चाहिए
एक दिन में 250 एमएल दही खाना सही रहता है। यदि आप दिन में दोपहर के भोजन के समय तक दही खा लें तो यह आपको शरीर को बहुत ही फायदे देता है। हालांकि इसकी मात्रा आपके बाकी के खानपान पर काफी हद तक निर्भर करती है।


दही और दूध का सेवन कब नहीं करना
रात को दही का कभी सेवन नहीं करना चाहिए। यदि आप नाॅन वेज खा रहे हैं तो ध्यान रखें कि उसके साथ न तो दूध लें और न ही दही। कभी भी बासी दही न खाएं। मधुमेह के रोगियों को दही का सेवन संयम से करना चाहिए। सर्दी, खांसी, जुकाम, टांसिल्स, अस्थमा एवं सांस की तकलीफों में दही और दूध का सेवन न करें।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!