एड़ियों में रहता है दर्द तो इसका कारण जानकर करें ये उपचार

Friday, January 12, 2018 12:28 PM
एड़ियों में रहता है दर्द तो इसका कारण जानकर करें ये उपचार

हर कोई आजकल अपने-अपने काम में बहुत व्यस्त हो गया है। ज्यादातर पति-पत्नी दोनों ही कामकाजी होते हैं और सारा दिन जिम्मेदारियों और भागदौड में वह अपनी सेहत का भी सही तरह से ध्यान नहीं रख पाते। इसकी बीच लोगों को छोटी-मोटी सेहत से जुड़ी परेशानियों से भी जूझना पड़ता है। इन्हीं में से एक है एड़ी का दर्द। पुरूष हो या फिर महिला दोनों में से किसी को भी इस असहनीय दर्द से गुजरना पड़ता है। इसके बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे ऊंची एड़ी के सैंडल पहनना,पैर की हड्डी का बढ़ना,दवाइयों का सेवन,पोषक तत्वों की कमी,वजन का बढ़ना आदि। पैर में कुल 26 हड्डियां होती हैं। इसमें से एक हड्डी सबसे बड़ी होती है जो कुुदरती रूप से शरीर का भी भार उठाने में सक्षम होती है। जिसे हम आसानी से अगले चल फिर सकते हैं। चोट या फिर किसी और कारण भी कई बार इसमें दर्द होने लगता है। आइए जानें इसका कारण। 


एड़ी में दर्द के कारण

  1. ऊंची एड़ी का सैंडल 
  2. पैर में मोच आना
  3. टाइट फुटवियर पहनना
  4. नींद की गोलियों का ज्यादा सेवन
  5. डायबिटिज या फिर मोटापा
  6. शरीर में पोषक तत्वों की कमी
  7. पैर की हड्डी बढ़ जाना
  8. ज्यादा देर तक खड़े रहना
     

दर्द से बचने के उपाय
पैरों में दर्द होने पर शुरुआत में ही इस तरफ ध्यान देना बहुत जरूरी है। अनदेखी करने पर यह परेशानी और भी बढ़ सकती है। 

1. एड़ी में दर्द होने पर हाई हील पहनना बंद कर दें। इससे पैरों को आराम मिलेगा। 
2. दर्द वाली जगह पर बर्फ की सिकाई करने से भी बहुत लाभ मिलता है। दिन में 3-4 बार 15-20 मिनट के लिए बर्फ से पैर की सिकाई करें। 
3. सैर,व्यायाम, साइक्लिंग और स्‍वमिंग से पैरों की हड्डियों को मजबूती मिलती है। 
4. दिन में एक बार 1 चम्मच दूध के साथ 1 चम्मच अश्वगंधा का चूर्ण मिलाकर सेवन करें। इसके बाद एक कप गर्म दूध पी लें। 
5. एलोवेरा, अदरक और काला तिल को मिलाकर गर्म करें और एड़ी पर लगाएं।

 

 घरेलू तरीके से पाएं एड़ी की दर्द से राहत

एलोवीरा 1/4 चम्मच
नौशादर का एक टुकड़ा 
हल्दी 1/4 चम्मच


इस्तेमाल का तरीका
एक बर्तन में एलोवीरा को हल्की आंच पर गर्म करेें। अब इसमें नौशादर और हल्दी भी मिला लें। जब यह पानी छोड़ दें तो गैस बंद कर दें और फिर गुनगुना होने पर एक रूई के टुकड़े पर रख दें। इसे एड़ी पर पट्टी की तरह बांध लें। इस बात का ध्यान रखें कि यह उपचार रात के समय करें ताकि आपको चलना फिरना न पड़े। लगातार कुछ दिन इसका इस्तेमाल करने से राहन मिलेगी। 

 

 

 




यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!