हकलाकर और तुतलाकर बोलने की समस्या से पाएं छुटकारा

Sunday, June 11, 2017 4:14 PM
हकलाकर और तुतलाकर बोलने की समस्या से पाएं छुटकारा

पंजाब केसरी (सेहत) : हकलाकर और तुतलाकर बोलने की समस्या अक्सर इंसान की पर्सनालिटी को खराब करती है। यह दोनों अलग- अलग समस्या है। हकलाने में व्यक्ति बोलते-बोलते अटक जाता है और तुतलाने में शब्दों को साफ नहीं बोल पाता। इन समस्याओं के कारण बहुत सी परेशानी होती है और कुछ सही समाधान भी मिल नहीं पाता। दालचीनी जो हर घर में आसानी से मिल जाती है। यह हकलाकर और तुतलाकर बोलने वाले लोगों के लिए बहुत फायदेमंद होती है।
 
1. आंवला
इस परेशानी से निजात पाने के लिए रोजाना लगातार 2 महीनों तक 1 आंवले का सेवन करें। इससे आवाज साफ होनी शुरू हो जाएगी। 

2. छुआरा
तुतलाने और हकलाने की परेशानी है तो इसमें छुआरा बेहद लाभकारी है। रोजाना रात को सोने से पहले 2 छुआरे खाएं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि 2 घंटे तक पानी न पीएं। 

3. बादाम और मक्खन
रात को सोने से पहले भिगो कर रखे हुए 5-6 बादाम और 3 ग्राम मक्शन एक साथ खाएं। इसका रोजाना सेवन करने से फायदा मिलेगा। आप 1 चम्मच मक्खन के साथ काली मिर्च का सेवन भी कर सकते हैं। 

4. मिश्री और बादाम
8-10 बादाम, मिश्री और बराबर मात्रा में काली मिर्च डालकर लेकर इसे पीस लें और मिश्रण तैयार कर लें। लगातार 2 हफ्तों कर रोजाना इसका सेवन करें। हकलाने की समस्या कम हो जाएगी। 

5. दालचीनी का करें अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल

- दिन में दो बार दालचीनी के तेल को जीभ पर लगाने से तुतलाने में लाभ मिलता है। इसका इस्तेमाल कम से कम 40 दिन तक लगातार करें।

- दालचीनी की छाल का छोटा-सा टुकड़ा जीभ पर रखकर चूसते रहने से हकलाने की समस्या दूर होती है।

- इसका तेल और छाल दोनों ही चीजों से मोटी जीभ की समस्या में भी फायदा मिलता है। 

- इन प्रयोगों के साथ-साथ थोड़ा सा साफ और लगातार बोलने की भी कोशिश करें।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!