तेज दिमाग वाला बच्चा चाहिए तो डाइट में खाएं अंडा

Friday, January 5, 2018 6:17 PM
तेज दिमाग वाला बच्चा चाहिए तो डाइट में खाएं अंडा

अधिकतर बच्चा का दिमागी विकास बचपन से ही कमजोर होता है, जिसकी वजह मां का गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्वों को डाइट में शामिल न करना है। प्रैग्नेंट महिला को तो डॉक्ट्रर्स भी पौष्टिक आहार लेने की सलाह देते है, जिससे मां और बच्चा दोनों स्वस्थ रहते है। अगर बात पौष्टिक आहार को लेकर करें तो अंडा काफी जरूरी आहार है जिससे न केवल मां सेहतमंद रहती है बल्कि गर्भ में पल रहे बच्चे का दिमागी विकास भी तेज होता है, जो उसके अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे का दिमाग तेज हो तो अपनी डाइट में अंडा शामिल करें। 

PunjabKesari

शिशु के दिमागी विकास के लिए क्यों जरूरी हैं अंडा? 

हाल में ही हुईं एक रिसर्च के मुताबिक अंडे की जर्दी, रेड मीट, मच्छी, नट्स और पत्तेदार सब्जियां प्रैग्नेंसी में बहुत फायदेमंद है। मैरी कैडिल ने सबसे पहले इस जानवरों पर इसकी रिसर्च की। जिसके जरिए उन्होंने पता लगाया कि क्लोिन पोषक तत्व की अधिक मात्रा लेने से गर्भ में पल रहे शिशु को काफी फायदा मिलता है, जो आजीवन उसके शारीरिक विकास में काम भी आता है। 

 

इनकी टीम ने कुछ गर्भवती माताओं की जांच की और उन्हें दो समूहों में विभाजित किया। एक दिन के लिए उनमें से कुछ महिलाओं को 480 मिलीग्राम क्लोिन दिया गया, जो पर्याप्त मात्रा से अधिक है और अन्य महिलाओं को 930 मिलीग्राम क्लोिन दिया गया जो एक दिन के लिए पर्याप्त होता है। 

 

इसके बाद उन्होंने 4, 7, 10 और 13 महीने की आयु के बच्चों के आइक्यू लेवल की जांच की। इससे पता चला कि जिन महिलाओं ने प्रैग्नेंसी के दौरान क्लोिन तत्व को अपनी डाइट में अधिक शामिल किया, उनके बच्चों का आइक्यू लेवल और सोचने-समझने की क्षमता बाकी बच्चों से अधिक है। 
 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!