कहीं आप तो नहीं दे रहे 1 साल के बच्चे को नमक और चीनी?

Sunday, March 19, 2017 11:18 AM

पेरेटिंगः छोटे बच्चे की देखभाल बहुत जरूरी है। जब तक बच्चे के दांत नहीं आ जाते उसको तरल पदार्थ खिलाना ही बेहतर है लेकिन 6-7 महिने के बच्चे के मुंह का स्वाद बदलने के लिए उसे कई बार खिचड़ी या सूप वहैरह दे दिया जाता है। कई बार तो फ्रूट पर भी नमक लगारकर बच्चे को दे दिया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसा करना गलत हो सकता है। बच्चे को पहले 6 महीने तक सिर्फ मां का दूध ही दिया जाता है लेकिन 1साल तक चीनी या नमक बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे उसकी सेहत को कई तरह के नुकसान पहुंच सकते हैं। 

नमक के नुकसान
छोटे बच्चे को रोजाना सिर्फ 1 ग्राम नमक की ही जरूरत होती है। इतना नमक उसे फल और सब्जियों से भी मिल जाता है। अलग से नमक खिलाने से बच्चे के शरीर में सोडियम का मात्रा बढ़ सकती है। इससे किडनी पर बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे बच्चों के बढे होने पर हाइपरटेंशन की सम्भावना काफी बढ़ जाती है।

चीनी के नुकसान
चीनी में कैमिकल मिला होता है जो दांतों पर बुरा असर डालता है। फ्रूट में नैचुरल शूगर होती है जो बच्चे को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती। आप अगर बच्चे को अलग से चीनी खिला रहे हैं तो सावधान हो जाएं। इससे शुगर लेवल बढ़ने का डर रहता है। ज्यादा नमक और ज्यादा चीनी से किडनी पर भी बुरा असर पड़ सकता है। 

नैचुरल चीनी
बच्चे को 6 महीने की उम्र के बाद फलों का रस या उन चीजों का ही सेवन करवाना चाहिए जिसमें नैचुरल चीनी हो। शहद में भी नैचुरल शूगर होती है जो नुकसान नहीं पहुचाती। इसके अलावा फलों पर भी एकस्ट्रा नमक डाल कर न दें। 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!