इस बार बालों को हाइलाइट्स नहीं, कराएं Lowlights

Monday, July 10, 2017 12:25 PM
इस बार बालों को हाइलाइट्स नहीं, कराएं Lowlights

पंजाब केसरी (ब्यूटी)- ब्यूटी और फैशन दोनों एक साथ चलते हैं। जिस तरह कपड़ों का फैशन समय-समय पर इन और आउट होता है, उसी तरह मेकअप,हेयर स्टाइल और हेयर कलर भी लड़कियां ट्रेड के हिसाब से ही फॉलो करती हैं। फैशन में हर समय अप टू डेट रहते हुए भी कोई न कोई बात ऐसी होती है जिससे लड़कियां अनजान होती हैं। इन्हीं में से एक है लोलाईट्स, हाइलाइट की तरह लोलाइट भी हेयर कलर ही है। आइए जानें इन दोनों की बीच का अंतर। 

हाइलाइट और लोलाइट्स में अंतर
हाइलाइट कलर में बालों के कुछ हिस्सों को बेस कलर करते हैं। इसमें बालों के कुछ शेड्स लाइट हेयर कलर से डाइ करते हैं। हाइलाइट करवा रहे हैं तो बेस कलर ज्यादा डार्क न करें। ब्राउन या फिर कॉपर कलर बेहतर लगते हैं। 

लोलाइट्स 
इस तरह के कलर में बालों का कुछ हिस्सा कलर करते हैं। इस कलर में बालों के नैचुरल कलर से 1 या 2 शेड डार्क कलर का ही इस्तेमाल होता है। इससे बाल घने लगने शुरू हो जाते हैं। 
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !