पीरियड्स का बदला रंग, इस परेशानी का संकेत!

Friday, March 17, 2017 5:17 PM

पेरेंटिंग: पीरियड्स यानि महावारी, यह पीड़ादायक दर्द हर महिला को सहना पड़ता हैं। पीरियड्स के दौरान महिला को तनाव, चिडचिड़ेपन से गुजरना पड़ता है। बहुत सी महिलाएं अनियमित पीरियड्स की समस्या से परेशान होती हैं। वहीं एक बात है, जसको अक्सर महिलाएं नजरअंदाज कर देती है। कई बार होता है कि पीरियड्स का रंग सामान्य से अलग हो जाता है, जो रंग यूट्रस में इंफेक्‍शन या अन्य बीमारी का सूचक है। कुछ औरतों इस बात को लेकर काफी लापरवाह होती है। समय रहते इसको समझ लेना ही बेहतर है क्योंकि सामान्य से काफी डिफरैंट पीरियड्स का रंग आपको किसी बीमारियों के संकेत देता है। 


- मध्‍यम लाल कलर 

अगर पीरियड्स का रंग मध्यम लाल कलर है तो आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। जिन महिलाओं को ज्यादा समय तक पीरियड्स आते है,  शुरूआत में उनके पीरियड्स का रंग मध्यम लाल और अंतिम दिनों में क्रैनबेरी रंग में बदल जाता है। 

- ब्राउन कलर

कई महिलाओं के पीरियड्स का रंग  ब्राउन होता हैं। यह ब्राउन ब्लड ओल्ड खून होता है। कई बार ऐसा होता है कि गर्भाशय में लंबे समय तक पुराना रक्त सर्कुलेशन होता रहता है, ऐसा अनियमित पीरियड्स के कारण होता है। अगर आपको भी इसी रंग के पीरियड्स आ रहे है तो इसका मतलब है कि गर्भाशय में खून जमा हो गया है। 


इस बाद को हल्के में न लेते हुए तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर की सला लें, ताकि आप गंभीर बीमारी की चपेट में आने से बच सकते है। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !