अनोखा गांव: यहां इंसान से लेकर पशु-पक्षी भी है अंधे, जानिए कारण

Tuesday, January 30, 2018 10:21 AM
अनोखा गांव: यहां इंसान से लेकर पशु-पक्षी भी है अंधे, जानिए कारण

दुनिया में बहुत से अजीबो-गरीब गांव है, जहां हर तरह के इंसान रहते है। हर गांव का रहन-सहन, खान-पान, रिति-रिवाज और वहां का तापमान अलग-अलग होता है। मगर आज हम आपको एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहें है जहां पर स्त्री-पुरुष से लेकर पशु-पक्षी आदि सभी अंधे हैं। इस गांव के पक्षी उड़ नहीं पाते वो पेड़ों से टकरा कर गिर जाते और इंसान भी कुछ देख नहीं पाते। आइए जानते है इस गांव के बारे में कुछ और बातें।

PunjabKesari

टिल्टेपक नाम के एक गांव में जोपोटेक जाति के लगभग 300 रेड इंडियन निवास करते हैं। दरअसल यह लोग जन्म के समय अंधे नहीं होते लेकिन जन्म के कुछ समय बाद हर किसी को दिखना बंद हो जाता है। यहां के लोग पत्थरों पर सोते हैं और सेम, मक्का, मिर्च खाते हैं। आज भी इन लोगों के पास लकड़ी के बने हुए औजार है। 

PunjabKesari

टिल्टेपक की एक सड़क के किनारे करीब 70 झोपड़ियां है, जिनमें यह लोग रहते है। इन घरों की खिड़कियां और दरवाजे नहीं है क्योंकि इन्हें रोशनी की जरूरत नहीं पड़ती है। यहां के लोग अपने दिन की शुरूआत पशुओं-पक्षियों की आवाज से करते है। शाम को यह लोग इकट्ठे होकर भोजन करते है। इसके बाद यह लोग शराब पीते और नाचते नाचते गाते हैं।

PunjabKesari

यहां के लोगों का कहना है कि यहां पर एक लावजुएजा नाम का पेड़ है, जिसे देखकर यह लोग अंधे हो जाते है। मगर यह सच नहीं है, क्योंकि पर्यटक इस पेड़ को देखकर अंधे नहीं होते। कुछ समय पहले ही वैज्ञानिकों ने इसका कारण ढूंढा है और उनका कहना है ऐसा एक किटाणु के कारण होता है। एक काली मक्खी के काटने पर यह किटाणु शरीर में फैल जाता है, जिसके कारण आंखों की नसें काम करना बंद कर देती है और व्यक्ति जल्दी अंधा हो जाता है।


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!