पांच ऐसी ताकतवर और सफल महिलाएं जिन्होंने Journalism में बनाई अपनी पहचान

Thursday, March 8, 2018 11:18 AM
पांच ऐसी ताकतवर और सफल महिलाएं जिन्होंने Journalism में बनाई अपनी पहचान

आज के दौर में महिलाएं पुरूषों से किसी भी बात में कम नहीं हैं। वह उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहीं है। एेसी कोई भी जगह नहीं है, जहां महिलाओं की भागीदारी न हो। आज महिलाएं घर संभालने से लेकर देश को संभालने तक का काम कर रहीं है।  

आज वुमेन डे सैलिब्रेशन के खास मौके पर हम आपको उन महिलाओं के बारे में बताते हैं, जिन्होंने पत्रकारी के क्षेत्र में सफलता प्राप्त करके दुनिया में एक मिसाल कायम की।

 

1. बरखा दत्त

PunjabKesari
बरखा दत्त एक प्रसिद्ध भारतीय टेलीविजन प्रसारक, पत्रकार, समाचार रिपोर्टर और लेखक हैं।1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच कारगिल लड़ाई की लाइव रिपोर्टिंग करके एक बहादुर पत्रकार के रूप में सामने आई। इसके बाद उनको कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार और पद्म श्री से नवाजा गया। वह वर्तमान में एनडीटीवी के लिए काम कर रही हैं। बरखा दत की सालाना सैलरी 3 करोड़ रूपये है।


2. अंजना ओम कश्यप 

PunjabKesari
अंजना ओम कश्यप का जन्म 1970 में राची में हुआ था। 41 साल की यह रिपोर्टर अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाती हैं। वर्तमान समय में अंजना आज तक चैनल के साथ काम कर रहीं है। इनकी सालाना सैलरी लगभग 1 करोड़ रुपये है।


3. श्वेता सिंह

PunjabKesari
श्वेता सिंह ने अपने कार्यक्रम श्वेतपत्र से अपनी खास पहचान बनाई है। वह पीछले 25 सालों से मीडिया से जुड़ी है। श्वेता सिंह राजनीति से लेकर खेल जगत सब तरह की खबरे देती हैं। उन्हें सर्वश्रेष्ठ ऐंकर, सर्वश्रेष्ठ प्रोड्यूसर और रिपोर्टर का अवॉर्ड मिल चुका है। श्वेता की सालाना सैलरी करीब 1 करोड़ रुपये है।


4. रिचा अनिरुद्ध

PunjabKesari
रिचा अनिरुद्ध 2002 में अपने करियर की शुरूआत जी न्यूज चैनल से की थी। इसके बाद वह 2007 से IBN 7 के साथ जुड़े हुई है। उन्हें 2004 में पिच मैगजीन ने सभी भारतीय समाचार चैनलों में अगली पीढ़ी के 12 सर्वश्रेष्ठ एंकरों में रिचा का चयन किया था। 2005 में,एकता मिशन द्वारा उन्हें 'सर्वश्रेष्ठ एंकर का' पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उनके शो 'जिंदगी लाइव' ने छः सीजनों के लिए 'इंडीटियल टेलीविजन डॉट कॉम' द्वारा सर्वश्रेष्ठ टॉक शो पुरस्कार जीता है। यह एक बार भारतीय टेलीविजन अकादमी द्वारा 'बेस्ट टॉक शो' के रूप में सम्मानित किया गया था। यूएनएफपीए द्वारा लिंग संवेदनशीलता के लिए शो ने 'लाडली मीडिया' पुरस्कार भी दो बार जीता। 2010 में सबसे आशाजनक युवा महिला पत्रकार होने के लिए रिचा को 'अमीटी मीडिया एक्सलन्स अवार्ड' से सम्मानित किया।

 

5. निधि कुल्पाती
निधि कुल्पाती ने 1991 में 'न्यूस्ट्राक' के साथ अपना कैरियर की शुरूआत की थी। उन्होंने ने ही अपने प्राइम टाइम नेटवर्क के द्वारा बाबरी मस्जिद विध्वंस की सूचना दी। मीडिया के क्षेत्र में योगदाने देने के लिए निधि को 2010 में प्रतिष्ठित आईएनबी सर्वश्रेष्ठ हिंदी समाचार एंकर और एनटी पुरस्कार हिंदी एंकर ऑफ द इयर से सम्मानित किया गया। 

 


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन